sulabh swatchh bharat

बुधवार, 20 जून 2018

शार्ट फिल्म, बिग मैसेज

स्वच्छता को एक देशव्यापी मुहिम बनाने में उन फिल्मकारों ने भी बड़ा रोल निभाया है, जिनकी इस विषय पर बनाई गई शार्ट फिल्में सोशल मीडिया सहित अन्य माध्यमों पर काफी सराही गई हैं

इरा टाक

इरा टाक द्वारा लिखित व निर्देशित शार्ट फिल्म 'इवन द चाइल्ड नोज' है, जिसमें एक छोटा बच्चा अपने चाचा को सफाई का सबक सिखाता है।  स्वच्छ भारत अभियान पर आधारित यह फिल्म यू ट्यूब पर उपलब्ध है। दो मिनट 23 सेकंड की इस फिल्म की इस फिल्म को सूचना और प्रसारण विभाग की तरफ से सर्टिफिकेट ऑफ  एक्सीलेंस से नवाजा गया है

राखी रॉय 

कोलकाता की राखी रॉय ने कई शॉर्ट फिल्में भी बनाईं हैं। स्वच्छता को लेकर अपनी एक शार्ट फिल्म के लिए वे पुरस्कृत हो चुकी हैं। राखी कहती हैं, ‘पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत के लिए मुहिम शुरू की। मुझे पीएम मोदी के इस अभियान से ही प्रेरणा मिली। स्वच्छ भारत के लिए ऐसी ही छोटी छोटी कोशिशों की जरूरत है।’

सत्येंद्र त्रिपाठी

सत्येंद्र त्रिपाठी को मुंबई लोकल में सफर के दौरान स्वच्छ भारत पर शॉर्ट फिल्म बनाने का विचार आया। सत्येंद्र पीएम मोदी के स्वच्छ भारत मिशन से भी प्रभावित हैं। सत्येंद्र सामाजिक मुद्दों से जुड़ी फिल्में बनाते रहे हैं। स्वच्छता को लेकर उनकी एक शार्ट फिल्म पुरस्कृत हो चुकी है। सत्येंद्र की इस फिल्म में एक बच्ची स्वच्छता का सबक देती है

कौशिक परमार

कौशिक परमार सूरत के रहने वाले हैं और इंजीनियरिंग कंपनी से जुड़े हैं। वे पर्यावरण, स्वास्थ्य और सुरक्षा के मुद्दों पर काम करते हैं। स्वच्छ भारत के लिए बनाए गए उनके कैलेंडर और फिल्में काफी सराही गई हैं। खासतौर पर स्कूली बच्चों पर स्वच्छता को लेकर उनकी एनिमेटेड फिल्म काफी पसंद की गई

महेश ठुम्मर

सूरत के रहने वाले महेश ठुम्मर सोशल मीडिया के लिए फिल्म का निर्माण करते हैं। महेश पीएम मोदी की स्वच्छ भारत मुहिम के समर्थक हैं। स्कूल में काम करने वाली सेविका तारा मौसी के किरदार को लेकर बनाई उनकी शार्ट फिल्म काफी सराही गई। ठुम्मर कहते हैं, 'मेरी फिल्म के केंद्र में बच्चे हैं। बच्चे जो काम बचपन में सीखते हैं उस काम को बड़े होने तक अपनाते हैं।'

गिरीश कांत गायकवाड

मध्य प्रदेश के सागर के रहने वाले गिरीश दस सालों से सामाजिक सरोकार के मुद्दे पर थियेटर, नाटक और शॉर्ट फिल्मों पर काम कर रहे हैं। गिरिश कहते हैं कि पीएम मोदी के स्वच्छता मिशन से उन्हें इस मुद्दे पर शॉर्ट फिल्म  बनाने की प्रेरणा मिली। गिरिश कई फिल्मों और टीवी सीरियल में अभिनय भी कर चुके हैं



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो