sulabh swatchh bharat

मंगलवार, 12 दिसंबर 2017

साहस की सहेलियां

असम में दो साहसी युवा सहेलियों-पिंकी और पूजा ने जान पर खेलकर 30 लोगों को बाढ़ में डूबने से बचाया है

असम में बाढ़ से जान-माल की काफी क्षति हुई है। इस बीच, वहां दो साहसी युवा सहेलियों ने जान पर खेलकर 30 लोगों को डूबने से बचाया है। ये दो सहेलियां हैं- पिंकी गोगोई और पूजा गोगोई। दरअसल, ऊपरी असम के लखीमपुर जिले के हातीलुंग गांव में स्थिति एक दिन सुबह तब अचानक काफी गंभीर हो गई, जब स्थानीय डैम से काफी पानी छोड़ा गया। नतीजतन, गांव सहित पूरे इलाके में भयंकर बाढ़ आ गई। ऐसे में कई लोग तेज बहाव के बीच फंस गए। उनकी स्थिति ऐसी थी कि वे अपने बचाव के लिए कुछ नहीं कर सकते थे। बाकी लोगों के पास भी खुद को अपने जरूरी सामान को बचाने के लिए कुछ लम्हों का ही समय था। पिंकी और पूजा बचपन से हाथ से बनी बांस का नाव चलाने का शौक रखती थीं। उस दिन जब गांव में बाढ़ आई तो उन्होंने इसी नाव की मदद से 30 ग्रामीणों को डूबने से बचाया। गांव में आई बाढ़ ​िकतनी जानलेवा थी, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कई पेड़ तक डूब गए थे और उनसे करीब तीन फीट ऊपर पानी बह रहा था। अब न सिर्फ इस गांव में, बल्कि पूरे इलाके में दोनों युवा सहेलियों की बहादुरी के चर्चे हैं। सब लोग सरकार से बहादुरी के लिए उन्हें सम्मानित करने की मांग कर रहे हैं। इस बारे में स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रि​िजजू से लिखित मांग भी की है। 



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो