sulabh swatchh bharat

बुधवार, 13 दिसंबर 2017

कचरा संग्रह को एक ‘आवश्यक सेवा’

श्रीलंका ने कचरा संग्रह को एक आवश्यक सेवा घोषित की

कोलंबो: श्रीलंका ने कचरा संग्रह को एक ‘आवश्यक सेवा’ घोषित किया है और कहा कि अगर कोई भी आदेश का उल्लंघन करेगा तो उसे बिना किसी वारंट के गिरफ्तार कर लिया जाएगा। यह निर्णय एक कचरा के टीले के भयावह तरीके के ध्वस्त हो जाने के कारण 33 लोगों के मारे जाने और दर्जनों घरों के जमींदोज हो जाने पर प्रदर्शनों के बीच लिया गया।

आदेश में कचरा निपटान, कचरा शोधन, परिवहन और भंडारण को शामिल किया गया है। कोई भी व्यक्ति आदेश का उल्लंघन करता हुआ या उपरोक्त किसी भी गतिविधि को बाधित करते हुए पाया गया तो उसे बिना किसी वारंट के गिरफ्तार कर लिया जाएगा और उसे कानून के अन्तर्गत सजा दी जा सकती है। राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने कल यह आदेश जारी किया ।

गौरतलब है कि श्रीलंका के निवासियों द्वारा पारंपरिक तरीके से नव वर्ष मनाया जा रहा था। इसी दौरान आग की एक घटना के बाद 91 मीटर कचरे के एक हिस्से के गिरने के कारण कोलोन्नावा के मीटोटामुल्ला इलाके में 33 लोगों की मौत हो गयी और दर्जन आवासीय इमारतें जमींदोज हो गयी जिसके बाद यह गजट जारी किया गया है।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो