sulabh swatchh bharat

शुक्रवार, 24 नवंबर 2017

जीवन रक्षक जवान

बस्तर इलाके में सीआरपीएफ के जवानों ने सेवा की नई मिसाल पेश की

छत्तीसगढ़ के नक्सली प्रभावित दक्षिण बस्तर इलाके में सीआरपीएफ के जवानों ने नई मिसाल पेश की है। कटेकल्याण के टेटम गांव की एक बीमार आदिवासी महिला कोसी को जवानों ने स्ट्रेचर बना कर कई किलोमीटर दूर एंबुलेंस तक ले गए।
सीआरपीएफ की एक टुकड़ी असिस्टेंट कमांडेंट देवाराम चौधरी और एसआई अमिताभ खांडेकर के नेतृत्व में सर्चिंग पर निकली थी। जवानों ने रास्ते में नयनार पटेलपारा गांव में एक महिला कोसी को दर्द से कराहते देखा। उसके परिजनों ने बताया कि कोसी बहुत बीमार है, लेकिन उसे अस्पताल ले जाने की सुविधा नहीं है, क्योंकि नक्सलियों ने रास्ता काट दिया है। एंबुलेंस गांव तक नहीं पहुंच पाती।
बस इतना सुनना था कि वीर जवानों ने बांस का स्ट्रेचर तैयार किया और महिला को स्ट्रेचर पर बिठा कर अपनी सुरक्षा में अस्पताल तक पहुंचाया। कंधे पर स्ट्रेचर उठाए जवान पहुंच विहीन मार्ग, पहाड़ और नदी नालों वाला ढाई किलोमीटर का रास्ता पार किया। सड़क पर खड़ी एंबुलेंस 108 में महिला को बिठाया और इलाज के लिए उसे कटेकल्याण अस्पताल रवाना किया। 



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो