sulabh swatchh bharat

शनिवार, 15 दिसंबर 2018

'गोलमाल तो सिर्फ एक है

तुषार कपूर इस फिल्म के प्रति इस कदर सम्मोहित हैं की अब उन्होंने एकदम तय कर लिया है की वो इसका री-मेक बनाएंगे

'गोलमाल का हल्का-फुल्का टाइटल ट्रैक  'गोलमाल है भाई, सब गोलमाल है आज भी बेहद प्रासंगिक है। कई ऐसी फिल्में हैं, जिनमें इस गाने के बोल को पाश्र्व संगीत के रूप में उपयोग किया गया है। प्रियदर्शन की फिल्म 'हेरा-फेरी  में जब अभिनेता सुनील शेट्टी परेश रावल द्वारा दिए गए कागज पर हस्ताक्षर करने वाले होते हैं, तो पृष्ठभूमि में यह गाना बज रहा होता है। पिछले कई साल से इसके री-मेक की बातें गाहे-बगाहे सुनने को मिलती रही हैं। पर हर बार यह बात घोषणा तक  ही सीमित रह जाती है। शेमारु के पास इस फिल्म के वीडियो राइट्स है। शेमारु के कर्ता-धर्ता हीरेन गाडा बताते हैं, 'यह फिल्म आज भी इतनी ज्यादा लोकप्रिय है कि इसका रीमेक बनाने में बहुत सारी बातों पर विचार करना पड़ेगा। यह हमारे टाप फाइव हिट फिल्मों में से एक  है। लगभग हर साल हम एक  नई साज-सज्जा के साथ इसका वीडियो जारी करते हैं। यह एक  दिलचस्प बात है कि पहले महंगी होने के बावजूद भी इसकी डीवीडी खूब बिकती थी, आज तो इसकी कीमत काफी सस्ती हो गई है।

अभिनेता तुषार कपूर इस फिल्म के प्रति इस कदर सम्मोहित हैं कि अब उन्होंने एकदम तय कर लिया है कि वो इसका री-मेक बनाएंगे। तुषार कहते हैं, 'मुझे मेरे कई दोस्तों ने कहा है कि मैं इस ऑल टाइम ग्रेट कॉमेडी फिल्म का री-मेक बनाऊं। पर यह फिल्म मुझे इस कदर पसंद है कि मैं इसे किसी ना किसी रूप में अवश्य बनाऊंगा, भले ही मेरी वो फिल्म उससे सिर्फ  प्रेरित नजर आए। दूसरी ओर अभिनेता अजय देवगन भी 'गोलमाल  के मुरीद है। एक  बातचीत के दौरान अजय ने अपनी यह इच्छा जताते हुए कहा, 'मैं यह डबल रोल करना चाहता था। यह कोई रिस्की सोच नहीं। दर्शक  इस फिल्म के क्रेज के चलते कम-से-कम एक बार तो मुझे जरूर देखने आएंगे।  अजय देवगन की फिल्म 'बोल बचन  में इसकी काफी झलक मिलती है। मगर अमोल इसके पक्ष में जरा भी नहीं है। वो बताते हैं, 'ऐसी क्लासिक फिल्मों का री-मेक बनाने का कोई औचित्य नहीं है। बल्कि इस सृजन का पूरा उपयोग करते हुए, ऐसे ही कुछ दूसरे जबरदस्त प्रयास होने चाहिए।  वैसे पूर्व में अजय रोहित शेट्टी की इस नाम की एक चालू कॉमेडी फिल्म में काम कर चुके हैं, जिसके दो और सीक्वेल भी बन चुके है। लेकिन ऋषि दा की 'गोलमाल  से इनकी तुलना मूर्खता ही होगी क्योंकि कॉमेडी फिल्मों के दर्शक सिर्फ  ऋषि दा के 'गोलमाल से वाकिफ हैं।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो