sulabh swatchh bharat

रविवार, 16 जून 2019

कंप्यूटरीकृत होंगी परिवहन विभाग की फाइलें

डिजिटल इंडिया को अपनाते हुए अब नोएडा में परिवहन विभाग की फाईलें कंप्यूटरीकृत करने की योजना बनाई जा रही है।

नई दिल्लीः डिजिटल इंडिया को अपनाते हुए नोएडा परिवहन विभाग ने चुहे से कुतरे जा रहे 12 लाख से ज्यादा फाइलों को कंप्यूटरीकृत करने की योजना बनाई है। एआरटीओ रचना यदुवंशी का कहना है कि मुख्यालय को स्कैन किए जाने वाले कामों की सूची भेज दी गई है। उम्मीद है कि जुलाई में स्केन करने का यह काम शुरू हो जाएगा। इससे पुरानी फाइलों से संबंधित जानकारी ऑनलाइन तुरंत मिल जाया करेगी। 

बता दें कि यह रिकॉर्ड वर्ष 2013 से पहले का है। ये फाइलें वाहनों के पंजीकरण व ड्राइविंग लाइसेंस से संबंधित हैं। अभी विभाग के रिकॉर्ड रूम में काफी संख्या में ऐसी फाइलें रखी हुई हैं जो या तो फटने के कगार पर या फिर चुहे से कुतरे जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि रिकॉर्ड को सुरक्षित रखने के लिए मुख्यालय की ओर से जानकारी मांगी गई थी। विभाग की ओर से फाइलों के स्कैन होने की जानकारी मुहैया करा दी गई है।

तर्क है कि लोग पुराने रिकार्ड की जानकारी लेने के लिए विभाग के धक्के खाते रहते हैं, इससे मुक्ति का यह सबसे आसान रास्ता है। स्कैन का काम पूरा हो जाने के बाद कम्प्यूटर पर एक क्लिक पर पूरा रिकॉर्ड सामने आ जाएगा। इस बारे में एआरटीओ रचना यदुवंशी का कहना है कि मुख्यालय को स्कैन किए जाने वाले काम की सूची भेज दी गई है। उम्मीद है कि जुलाई में यह काम शुरू हो जाएगा। विभाग में चूहे भी लगातार फाइलों को कुतर रहे हैं। ऐसे में पुरानी फटी हालत की फाइलों को सुरक्षित रखना विभाग के लिए चुनौती साबित हो रहा है। 



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो