sulabh swatchh bharat

रविवार, 16 जून 2019

'नमो' के बाद अब आया 'योगी आम'

नमो आम के बाद, प्रसिद्ध आम उत्पादक पद्मश्री कलीमुल्लाह खान ने एक जूसरी वेराइटी के मलीहाबादी आम तैयार किए है जिसका नाम उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम पर योगी आम रखा है।

लखनऊः लखनऊ से 40 किमी दूर मलीहाबाद में 1957 से 5 एकड़ के आम के बागीचे में आम पैदा किए जा रहे हैं। खान विश्व प्रसिद्ध मलीहाबादी आमों की नई वेराइटी विकसित करने और उसकी ग्राफ्टिंग करने के लिए मशहूर हैं। उनकी कुछ बेहतरीन किस्मों में हसन-आरा, शरबती, पुखराज, खास-उल-खास, हिमसागर, प्रिंस, वालहजह, माखन आदि शामिल हैं।

पूरे देश में मैंगों मैन के नाम से प्रसिद्ध खान ने अपनी क्रिएटविटी के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, बॉलीवुड अभिनेत्री ऐश्वर्य रॉय समेत कई प्रसिद्ध व्यक्तियों के नाम पर आमों की वेराइटी विकसित की है। उन्होंने ग्राफ़िंग तकनीक के माध्यम से एक पेड़ पर 300 किस्मों के आम विकसित कर विश्व रिकॉर्ड बनाया है। उन्हें देश में आम की ग्राफ्टिंग तकनीक के पिता के रूप में भी जाना जाता है।

इस नए योगी मैंगो के बारे में खान ने दावा किया है कि यह सुन्दर है लेकिन आकार में छोटा है। मैं इसके स्वाद का वर्णन नहीं कर सकता क्योंकि यह अभी तक परिपक्व नहीं है, लेकिन मुझे उम्मीद है कि यह मेरी पिछली कृतियों की तुलना में थोड़ा अधिक मीठे स्वाद का होगा। खान को भारत सरकार द्वारा 'पद्मश्री' और उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 'उद्यान पंडित' पुरस्कार से नवाजा गया है। वह दशहरी, चौसा और हसन आरा आमों की वेराइटी को यूनाइटेड स्टेट, ऑस्ट्रेलिया, यूनाइटेड किंगडम और पाकिस्तान में एक्सपोर्ट भी करते हैं। 



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो