sulabh swatchh bharat

रविवार, 16 जून 2019

First-Floating-Lakes-of-World

दुनिया की इकलौती तैरती झील

111 सप्ताह पहले
लोकटक झील, भारत में ताजे पानी की सबसे बड़ी झील है। इस झील को 'लाइफलाइन ऑफ मणिपुरÓ कहते हैं। यह मणिपुर की राजधानी इंफाल से 53 किलोमीटर दूर दीमापुर रेलवे स्टेशन के निकट है। 34.4 डिग्री सेल्सियस का तापमान, 49 से 81 प्रतिशत तक की नमी, 1,183 मिलीमीटर का वार्षिक वर्षा औसत तथा पबोट, तोया और चिंगजाओ पहाड़ मिल कर इसका फैलाव और आकार तय करते हैं। इस पर तैरते विशाल हरित घेरों की वजह से इसे तैरती हुई झील कहा जाता है। लोकटक झील में एक से चार फीट तक मोटे ये विशाल हरित घेरे वनस्पति मिट्टी और जैविक पदार्थों के मेल से निर्मित मोटी परतें हैं। परतों की मोटाई का 20...
Government-to-Provide-New-Housing-Scheme-for-Poors-in-Meghalaya

नई आवास योजना

112 सप्ताह पहले
शिलांगः राज्य के आवास मंत्री जेनिथ संगमा ने कहा कि सरकार ने एक योजना बनाई है, जिसके तहत राज्य में 10,000 घरों का निर्माण कराया जाएगा। इसके लिए सरकार लाभार्थियों के घर बनाने में आने वाले कुल खर्चे का 25 प्रतिशत राज्य कोष से देगी और बाकि के 75 प्रतिशत के लिए सरकारी लोन की व्यवस्था कराएगी।  उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत बनाए जाने वाले घरों में नट्स और बोल्टों का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। इस योजना का महत्व आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लोगों के लिए है । यह राज्य के ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में कार्यान्वित की जाएगी।  सर...
Development-of-Batadrava-as-Tourist-Destinations-in-Guwahati

पर्यटन स्थल के रूप में बटाड्रावा का विकास

112 सप्ताह पहले
गुवाहाटीः असम के मुख्यमंत्री श्रीमती सरबानंद सोनोवाल ने धार्मिक और सांस्कृतिक पर्यटन के रूप में प्रसिद्ध संत श्रीमंत शंकरदेव के जन्मस्थान बटाड्रावा के विकास पर विशेष बल दिया है और उन्होंने बटाड्रावा थान (मोनस्ट्री) के पदाधिकारियों से कहा था कि वे थान की सीमा तय करें और सीमा की दीवारों का निर्माण कराएं।  जनता भवन में मुख्यमंत्री ने बटाड्रावा समिति के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि संत का जन्म स्थान विकसित और राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन सर्किट में रखा जाएगा। उन्होंने...
 Assam-Increased-Revenue-Growth-in-this-Financial-Years

रिकॉर्ड राजस्व वृद्धि

112 सप्ताह पहले
गुवाहाटीः पिछले वित्त वर्ष में असम में रिकॉर्ड राजस्व वृद्धि दर्ज की गई है, यह बात राज्य की वित्त मंत्री हिमांता बिस्वा सर्मा ने बताई। उन्होंने कहा कि असम राजस्व वृद्धि के मामले में देश में सबसे ऊपर है। बता दें कि 2016-17 में राजस्व वृद्धि 21.60 प्रतिशत रही जबकि 34.56 प्रतिशत ही खर्च की गई है। राज्य सरकार ने पिछले साल (2015-16) के 39,805 करोड़ रुपए के मुकाबले वर्ष 2016-17 में 53,562 करोड़ रुपए का निवेश किया था, जिसमें वेतन, पेंशन, योजना और गैर-योजना की सभी राशि शामिल थी। इस साल में राजस्व संग्रहण 15,620 करोड़ रुपए था, जबकि पिछले वर्ष...
CM-N-Biren-Singh-Announced-201-Crore-RS-for-Ukhrul-District

उखरुल विकास पैकेज

113 सप्ताह पहले
इम्फाल:  मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने कहा कि 10 करोड़ रुपए उखरूल जिला मुख्यालय में महिलाओं के लिए बाजार बनाने के लिए निर्धारित किए गए है। अन्य योजनाओं में जिले की सड़कों का ब्लैकटॉपिंग कराने के लिए दिए गये है। उन्होंने कहा कि हर साल प्रसिद्ध संगति समारोह की तर्ज पर जिले में शिरूई पर्यटन महोत्सव आयोजित किया जाएगा।  इस साल 5 मई को  शिरुई गांव में पांच दिन का महोत्सव आयोजित किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उखरुल जिला मुख्यालय में 15 दिनों के भीतर तीन अतिरिक्त प्रकाश व्यवस्था स्थापित की जाएगी। उन्होंने कहा कि सिरारखोंग गांव में अँ...
Apeda-and-Essl-Launched-Led-Lights-in-Arunachal-Pradesh

एलईडी बल्ब में मिली छूट

113 सप्ताह पहले
इटानगर:  इस स्कीम को लांच करने वाला लोहित अरुणाचल प्रदेश का पहला जिला बन गया है।  इस स्कीम के तहत 9 वाट के एलईडी बल्ब की कीमत 70 रुपए  और 20 वाट के  एलईडी  ट्यूब लाइट्स की कीमत 230 रुपए है, जो हालिया बाजार के कीमत से काफी कम है।  लोहित जिले के डिप्टी कमिश्नर दानिश अशरफ ने कहा कि यह योजना जिले के उर्जा क्षमता को आगे बढाने में हमारी मदद करेगी। यह लोहित के लिए उठाया गया एक छोटा कदम है  लेकिन यहां के लोगों के लिए यह बड़ी सौगात है । अशरफ ने कहा कि इनके इस्तेमाल से 50,000 घंटे से अधिक की उर्जा बचाई जाएगी, ...
nitin-gadkari-declared-1253-kms-road-developed-as-national-highway-in-assam

सड़क परियोजना

114 सप्ताह पहले
गुवाहाटीः असम में पहले से ही केंद्र सरकार द्वारा 2000 किमी तक की सड़क को राष्ट्रीय राजमार्ग के लिए घोषित किया गया है। गडकरी ने कहा कि 1253 किलोमीटर के भीतर आने वाली 23 परियोजनाओं की रिपोर्ट विस्तार में पूरी हो चुकी है और इसके लिए जल्द ही काम शुरू कर दिया जाएगा।   गड़करी ने बताया कि इससे पहले ही गुवाहाटी बाईपास खानपारा से जलुकबारी तक को सिक्स लेन हाइवे में बदल दिया गया है। इसी तरह राष्ट्रीय राजमार्गों के साथ-साथ लॉजिस्टिक पार्कों के पास जहां भूमि उपलब्ध है, वहां गोदामों को स्थानांतरित किया जाएगा, जिससे शहर और नगर क्षेत्रों में भीड़ कम हो सके। उन्होंने राज्य सरकार से कहा कि विभिन्न परियोजनाओं के लिए केंद्रीय मंत्रालय द्वारा निर्धारित न्यूनतम दर क...
tripura-top-state-in-northeast-to-use-pradhanmantri-awas-yojana-scheme

पीएमएवाई के उपयोग में त्रिपुरा सबसे आगे

114 सप्ताह पहले
अगरतलाः राज्य के शहरी विकास मंत्री मानिक डे ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में त्रिपुरा भू-ट्रैकिंग योजना में सबसे ऊपर है। राज्य में 30,856 घरों के लिए भू-ट्रैकिंग पूरी हो चुकी है और उनमें से लगभग 29,000 परिवारों को पहली किस्त की राशि भी मिल चुकी है। डे ने कहा कि त्रिपुरा में पीएमएवाई योजना के लिए लगभग 130 करोड़ रुपए का भुगतान भी किया गया है। कुछ लाभार्थियों को दूसरी किस्त के पैसे पहले ही मिल चुके हैं और तिसरे चरण के लिए घर बनाने की प्रक्रिया भी पूरी कर ली गई है। जुलाई-सितंबर 2016 के समय को कवर करने वाली केंद्रीय मंत्रालय की अधिकारिक त्रैमासिक न्यूजलेटर आश्रय ने कहा था कि त्रिपुरा जेएनएनयूआरएम और पीएमएवाई आवास योजनाओं में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शनकारी राज्य के रुप म...
Bsnl-start-mobile-connectivity-in-village-of-arunachal-pradesh

मोबाइल कनेक्टीविटी

114 सप्ताह पहले
इटानगरः इस वित्तीय वर्ष के आखिरी में बीएसएनएल अरूणाचल प्रदेश के सभी गांवों में मोबाइल कनेक्टीविटी प्रदान करेगी। 2017-18 के दौरान राज्य में कंप्रिहेंशिव टेलेकॉम डेवेलपमेंट प्लान (सीटीडीपी) के तहत लगभग 1893 मोबाइल बेस ट्रान रिसिवर स्टेशन द्वारा इन गावों में मोबाइल सेवा शुरू करने की योजना बनाई गई है। बीएसएनएल के अधिकारी ने बताया कि हाइवे को भी सीटीडीपी प्रोजेक्ट के तहत कवर किया जाएगा। इससे जिले के अंदर टेलेकॉम नेटवर्क की कनेक्टीविटी मजबूत होगी और इसके माध्यम से डिजिटल इंडिया के उद्देश्य को भी पूरा किया जाएगा। 2017-18 में 1,510 किमी ऑप्टिकल फाइबर केबल लगाए जाएंगे और इस काम को जल्द ही शुरू किया जाएगा। इससे पहले मल्टी प्रोटोकॉल लेबल स्वीचिंग (एमपीएलएस) इट...
Livelihood-security-project-launched-in-arunachal-pradesh

आजिविका सुरक्षा

114 सप्ताह पहले
पासीघाटः अरुणाचल प्रदेश के पूर्वी सियांग जिले के नारी-कोयू विकास ब्लॉक के नारी और नोमी गांवों में एक प्रोजेक्ट शुरु किया गया है, जिसका लक्ष्य पूर्वोत्तर राज्यों के आदिवासी किसानों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति और आजीविका सुरक्षा को बढ़ाना है। उत्तर-पूर्वी क्षेत्र के पांच जनजातीय राज्यों में जनजातीय उप योजना (टीएसपी) के तहत कार्य करने के लिए इस प्रोजेक्ट को भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) द्वारा वित्त प्रदान किया गया है। अरुणाचल प्रदेश में उद्यान विज्ञान और फारेस्ट्री कॉलेज, पासीघाट इस परियोजना को लागू कर रहा है। इस प्रोजेक्ट में एकीकृत खेती प्रणाली, संरक्षित खेती, वर्षा जल संचयन, मशरूम की खेती, वर्मी-कंपोस्टिंग, मत्स्यपालन, सुअर, मुर्गी पालन, दुग्ध और बकरी की...
inland-water-transport-starts-ferry-service-in-assam

फेरी सेवा की शुरुआत

115 सप्ताह पहले
गोलाघाटः असम के इनलैंड वाटर ट्रांसपोर्ट विभाग ने ब्रिटिश काल की नदी राउट से ब्रह्मपुत्र नदी को जोड़ने के लिए उत्तर से दक्षिण की तरफ फेरी सेवा की शुरुआत की है। यह फेरी सेवा दक्षिण में धनसीरी से गोलाघाट के बीच और उत्तर में गोमरी घाट से सोनीतपुर जिले के बीच में दो अप्रैल से नमामि ब्रह्मपुत्र महोत्सव के मौके पर शुरू की गई। बता दें कि 35 किमी लंबी राउट नदीं उत्तर और दक्षिण के लिए सबसे महत्वपूर्ण संपर्क मार्ग था, लेकिन ब्रह्मपुत्र नदी पर बना 3.2 किमी का कालीभुमुरा पुल के गिरने के कारण यह संपर्क टूट गया था। आईवीटी के निदेशक भरत भूषण देव चौधरी ने कहा कि शुरुआत में राउट नदी के 35 किमी के लिए एक फेरी सेवा का संचालन किया गया है। उन्होंने कहा कि बोट्स की मांग बढ़ने पर हम...
government-of-india-provide-fund-for-developing-assam-tourism

असम पर्यटन को बढ़ावा

115 सप्ताह पहले
गुवाहाटीः असम के पर्यटन क्षेत्र और हेरिटेज क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए राज्य पर्यटन मंत्रालय और भारत सरकार  ने 98.35 करोड़ रुपए पास किए हैं। पर्यटन और कल्चर राज्य मंत्री महेश शर्मा ने मुख्यमंत्री के साथ रविवार शाम को मीटिंग की, उसी दौरान उन्होंने यह बात कही। यह पैसा तेजपुर, मजौली और सिवसागर क्षेत्र में स्वदेश दर्शन स्कीम के तहत दिया गया है। इसमें मजौली के आधारभूत पर्यटन का विकास, कमलबारी घाट के पास बने लड़की की झोपड़ी, कैफेटेरिया, घडी टावर, ऊंचा रास्ता, सोलर प्रकाश और भूदृश्य निर्माण भी शामिल है। 61.26 करोड़ रुपए सिवसागर में रंगघर, ज्वाय सागर, तलातल घर और तेजपुर में कनकलता उद्यान, बमुनी हिल्स के विकास के लिए दिया गया । 19.67 करोड़ रुपए की पहली किस्त भा...


Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो