sulabh swatchh bharat

बुधवार, 15 अगस्त 2018

woman-on-justice-posture

गीता मित्तल व सिंधु शर्मा - न्याय के आसन पर महिला

20 घंटे पहले
जस्टिस गीता मित्तल को जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है। वह राज्य के उच्च न्यायालय की अध्यक्षता करने वाली  पहली महिला न्यायाधीश हैं। जस्टिस गीता मित्तल अब तक दिल्ली उच्च न्यायालय की कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश थीं। इसी तरह जस्टिस सिंधु शर्मा जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय की पहली महिला न्यायाधीश बनी हैं। जम्मू कश्मीर में न्याय के उच्च आसन पर इस तरह किसी महिला का आसीन होना एक बड़ी खबर है। इससे जम्मू कश्मीर में न्याय और महिला सशक्तीकरण के एक नए अध्याय के आरंभ की उम्मीद है। जस्टिस गीता मित्तल और जस्टिस सिंधु शर्मा के अलावा भी कई कई महत्वपूर्ण नियुक्तियां हुई हैं।
noble-of-mathematics

अक्षय वेंकटेश - गणित का नोबेल

एक दिन पहले
नामी भारतीय-ऑस्ट्रेलियाई गणितज्ञ अक्षय वेंकटेश समेत चार विजेताओं को गणित का विशिष्ट फील्ड्स मेडल मिला है। गणित के क्षेत्र में इसे नोबेल पुरस्कार  के समान माना जाता है। हर चार साल बाद फील्ड्स मेडल 40 साल से कम उम्र के सबसे उदीयमान गणितज्ञ को दिया जाता है। स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में पढ़ा रहे नई दिल्ली में जन्मे वेंकटेश को गणित विषय में विशिष्ट योगदान के लिए फील्ड्स मेडल मिला है। रिओ दि जेनेरियो में गणितज्ञों की अंतरराष्ट्रीय कांग्रेस में उनके मेडल के लिए प्रशस्ति में उनके योगदान को रेखांकित किया गया है। तीन अन्य विजेता हैं- कैंब्रिज विश्वविद्यालय में इरानी-कुर्द मूल के प्रोफेसर कौचर बिरकर, बॉन विश्वविद्यालय में पढ़ान...
an-unusual-way-to-forget

दादाराव बिल्होर - गम भूलाने का नायाब तरीका

एक सप्ताह पहले
मुंबई की सड़कों पर बने गड्ढों के कारण न जाने कितने लोग अपनों को खो चुके हैं। कुछ लोग जहां इस गम में जिंदगी बिता देते हैं, वहीं एक शख्स ऐसा भी है जिसने इसके लिए कदम उठाने का फैसला किया है। तीन वर्ष पहले अपने 16 साल के बेटे को गंवाने वाले दादाराव बिल्होर ने एक अनोखा कदम उठाया है। वह अपने बेटे की पुण्यतिथि पर उस जगह के गड्ढे भरने जा रहे हैं, जहां उसकी जान गई थी। यही नहीं, पिछले तीन साल में वह 555 गड्ढे भर चुके हैं।   नगर प्रशासन की सुस्ती के कारण हर वर्ष बरसात में पानी सड़कों पर जमा हो जाता है, जिससे सड़कों पर छोटे-बड़े गड्ढ़े बन जाते हैं। बाद में यही गड्ढ़े लोगों की मौत तक की वजह बनते हैं। दादाराव की एक और रिश्तेदार भी...
nanheen-ishwar-yoga

ईश्वर शर्मा - नन्हें ईश्वर का योग

एक सप्ताह पहले
सफलता और उम्र में कोई सीधा संबंध तो नहीं पर कम उम्र में बड़ी सफलता हमेशा लोगों को हैरान करती है। ब्रिटेन में रह रहे आठ वर्ष के भारतवंशी छात्र ईश्वर शर्मा का सफलता कुछ ऐसी ही है। ईश्वर को यंग अचीवर श्रेणी में ‘ब्रिटिश इंडियन ऑफ द ईयर’ के खिताब से नवाजा गया है। ब्रिटेन में अंडर-11 श्रेणी के राष्ट्रीय योग चैंपियन ईश्वर को इस हफ्ते बर्मिंघम में आयोजित एक कार्यक्रम में यह सम्मान दिया गया। नन्हें चैंपियन ईश्वर ने कलात्मक योग में कई खिताब अपने नाम किए हैं। गत जून में कनाडा में आयोजित व‌र्ल्ड स्टूडेंट गेम्स, 2018 में उसने ब्रिटेन के लिए गोल्ड मेडल जीता था। तुर्की में हुई यूरो एशियन योग चैंपियनशिप में भी उसे गोल्ड...
app-of-genius-upgrade

कुंदन कुमार - प्रतिभा उन्नयन का एेप्प

2 सप्ताह पहले
बिहार के नक्सल प्रभावित जिले बांका में इन दिनों एक एेप्प के कारण शिक्षा को लेकर तेजी से जागरुकता बढ़ रही है। इस एेप्प को शुरू करने का श्रेय जिलाधिकारी कुंदन कुमार को है। शिक्षा के इस अभियान से 56 चुनिंदा शिक्षक के अलावा आईआईटी के पूर्व छात्र जुड़े हैं, जो इस एेप्प को सुचारु रूप से चलाने के लिए 24 घंटे तैनात रहते हैं। ‘बांका उन्नयन’ नाम के इस एेप्प के जरिए छात्र 10वीं, 12वीं, एसएससी, बैंक पीओ व आईआईटी-जी की तैयारी कर रहे हैं। इससे जहां बच्चों को उनके सवालों के जवाब मिल रहे हैं, वहीं वे सामूहिक चर्चा में शरीक होकर भी अपना ज्ञान बढ़ा रहे हैं। कुमार की पहल पर तैयार हुआ यह एेप्प हिंदी व अंग्रेजी दोनों भाषाओं में है...
divyang-band

करण जौहर - दिव्यांगों का बैंड

2 सप्ताह पहले
बॉलीवुड के जाने-माने फिल्म निर्माता-निर्देशक करण जौहर ने कुछ समय पहले मुंबई में एक बैंड लॉन्च किया है। इस बैंड की खास बात यह है कि यह 6 बच्चों का बैंड है और ये सभी बच्चे अलग-अलग रूप से दिव्यांग हैं। इस बैंड का नाम उन्होंने ‘6 पैक बैंड 2.0’ रखा है। करन जौहर इससे पहले 2016 में भी एक अलग तरह के बैंड को लॉन्च करने को लेकर चर्चा में आए थे। तब उन्होंने 'हम हैं हैप्पी' नाम से इंडिया के पहले ट्रांसजेंडर बैंड को लॉन्च किया था। इस बैंड का मकसद गानों के जरिए सामाजिक जागरूकता फैलाने का है।  इस बार करण ने जो बैंड लॉन्च किया है उसका मकसद खासतौर पर बच्चों का आत्मविश्वास बढ़ाना है। इसमें तीन लड़के और तीन लड़कियां...
golden-girl-hema

हिमा दास - गोल्डन गर्ल हिमा

3 सप्ताह पहले
असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने ऐलान किया है कि स्टार एथलीट हिमा दास को राज्य का खेल दूत नियुक्त किया जाएगा। फिनलैंड के टेंपेयर में आईएएएफ विश्व अंडर-20 चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचने वाली हिमा राज्य की पहली खेल दूत होंगी। हिमा 400 मीटर फाइनल में खिताब के साथ आईएएएफ विश्व अंडर 20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला हैं।  18 वर्षीय हिमा ने 51.46 सेकेंड के समय के साथ स्वर्ण पदक जीता था। इसके साथ ही वह भाला फेंक के स्टार खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की सूची में शामिल हो गईं, जिन्होंने 2016 में पिछली प्रतियोगिता में विश्व रिकॉर्ड प्रयास के साथ स्वर्ण पदक जीता था। हालांकि वह इस प्रत...
new-vision-of-success

नानूराम राव - सफलता की नई ‘दृष्टि’

3 सप्ताह पहले
विश्वास और मेहनत से कोई कार्य असंभव नहीं रह जाता है। राजस्थान में चुरू के लोढ़सर गांव के रहने वाले एक नेत्रहीन युवा ने आईएएस की प्री परीक्षा पास कर इस सबक को एक बार फिर सही साबित किया है। सार्वजनिक निर्माण विभाग में बेलदार पद पर कार्यरत टीकूराम के नेत्रहीन बेटे नानूराम राव अपनी सफलता पर तो खुश है, पर उसे जीवन में और आगे जाना है, और सफल होना है।  राव ने बताया कि मन में विश्वास, मेहनत और लगन से ही कठिन से कठिन लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है। वह अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए आईएएस परीक्षा की तैयारी कर रहा है। नानूराम को पूरा भरोसा है कि वह इस बार आईएएस-मेंस परीक्षा पास करके अपने पिता के सपने का साकार करेगा। र...
faiz-against-plastic

फैज मोहम्मद - प्लास्टिक के खिलाफ फैज

4 सप्ताह पहले
प्लास्टिक कचरा आज दुनिया में पर्यावरण के लिए सबसे बड़ा खतरा है। कई देश इस दिशा में कड़े कानून बनाकर पहल तो कर रहे हैं पर यह चुनौती तब तक बनी रहेगी जब तक लोग प्लास्टिक के खिलाफ अभियान में सक्रिय हिस्सेदारी नहीं लेंगे। हाल में दुबई में एक भारतीय मूल का बच्चा इसी मुद्दे पर अपनी जागरूकता दिखाने के लिए चर्चा में आया है। दुबई में भारतीय मूल के 10 वर्षीय फैज मोहम्मद को पर्यावरण को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए सम्मानित भी किया गया है।  फैज को दुबई नगर पालिका ने ‘युवा स्थिरता राजदूत’ के तौर पर सम्मानित किया है। इस बारे में फैज बताते हैं कि उसकी एक जागरूक पहल उसे इस तरह चर्चा में ला देगी, ऐसा उसने सोचा भी नहीं था। फ...
farewell-to-the-record-nails

श्रीधर चिल्लाल - कीर्तिमान के नाखून की विदाई

4 सप्ताह पहले
दुनिया में सबसे लंबे नाखूनों के लिए रिकॉर्ड दर्ज कराने वाले भारत के श्रीधर चिल्लाल ने 66 वर्षों के बाद अपने नाखून कटवा लिए इन्हीं नाखूनों की वजह से उनका नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दो साल पहले दर्ज हुआ था। उनके एक अंगूठे के नाखून की लंबाई 197.8 सेंटीमीटर थी जबकि सभी नाखूनों की संयुक्त लंबाई 909.6 सेंटीमीटर। सबसे लंबे नाखूनों के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराने वाले 82 वर्षीय चिल्लाल ने 1952 के बाद अपने बाएं हाथ के नाखून नहीं काटे। उनका नाखून टाइम्स स्क्वायर में 'बिलीव इट और नॉट म्यूजियम' में काटा गया, जहां इसके लिए बकायदा एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। चिल्लाल ने दो वर्ष पहले ही ‘एक हाथ में...
ramayana-in-urdu

डॉ. माही तलत सिद्दीकी - उर्दू में रामायण

5 सप्ताह पहले
उत्तर प्रदेश के कानपुर की रहने वाली डॉ. माही तलत सिद्दीकी ने रामायण का उर्दू में अनुवाद किया है। डॉ. माही का कहना है वो अपने इस प्रोजक्ट पर काफी वक्त से काम कर रही थीं और आज जब उन्होंने इसे पूरा कर लिया है तो काफी अच्छा महसूस कर रही हैं। तमाम दूसरी मजहबी किताबों की तरह रामायण भी लोगों को भाईचारे और शांति से रहने को कहती है और रामायण को पढ़ते हुए उन्होंने बहुत सुकून महसूस किया।  डॉ. माही के परिचित और आसपास के लोग इसे एक अच्छी पहल बता रहे हैं। लोगों का कहना है कि माही ने आपसी सद्भाव का एक नमूना सबसे सामने पेश किया है। पूरी रामायण का उर्दू में अनुवाद करने पर डॉ. माही को बधाइयां भी मिल रही हैं। डॉ. माही पेशे से शिक्षिका ...
promptness-of-the-judge

संजय करोल - जज साहब की मुस्तैदी

5 सप्ताह पहले
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में बारिश के बाद जल संकट का कोहराम कुछ थम जरूर गया है, क्योंकि वहां जल स्तर 28.4 एमएलडी (मिलियन लीटर प्रति दिन) तक पहुंच गया है। पर वहां पानी की आपूर्ति को लेकर अब भी कई तरह की शिकायतें बनी हुई हैं। यही वजह है कि शिमला का जल संकट अब भी चर्चा में है। इस संकट की गंभीरता का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि हिमाचल हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय करोल अपनी तरफ से इसे दूर करने और इसके लिए सुचारु व्यवस्था बनाने के लिए न्यायिक के साथ व्यक्तिगत सक्रियता दिखा रहे हैं।  हाल ही में उन्होंने आधी रात तक शिमला की सड़कों पर घूमकर पेयजल संकट का निरीक्षण किया। लोगों को हो रही परेशानियों...


Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो