sulabh swatchh bharat

रविवार, 25 फ़रवरी 2018

isros-new-target

इसरो का नया लक्ष्य

4 दिन पहले
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अगले पांच महीनों में पांच प्रक्षेपण करने की तैयारियों में जुटा है। इनमें चंद्रयान - 2 अभियान भी शामिल है और इसरो इन प्रक्षेपण कार्यक्रमों को लेकर खासा व्यस्त है। इस बात की जानकारी इसरो के अध्यक्ष के. सिवन ने दी। सिवन ने बताया कि साल 2018 की पहली छमाही में श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से जिन अभियानों की योजना है, उनमें जीएसएलवी - एफओ8 (जीसैट - 6 ए उपग्रह), जीएसएलवी एमके 3 (सेकेंड डेवलपमेंट फ्लाइट), चंद्रयान- 2 और पीएसएलवी (आईआरएनएसएस - 1 आई, दिशा एवं स्थान सूचक उपग्रह) शामिल हैं। अंतरिक्ष एजेंसी ने एरियनस्पेस को 5.7 टन वजनी  जीएसैट -11 उपग्रह जून तक प्रक्षेपित करने के लिए एक अनुबंध भ...
all-trains-will-be-under-cctv-surveillance

सभी ट्रेनों में होगी सीसीटीवी निगरानी

2 सप्ताह पहले
रेल यात्रियों को सुरक्षित यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए भारतीय रेल देश भर के अपने सभी ट्रेनों में और स्टेशनों पर अत्याधुनिक सीसीटीवी कैमरा स्थापित करेगी। रेलवे ने वित्त वर्ष 2018-19 में सभी 11,000 ट्रेनों में सीसीटीवी प्रणाली स्थापित करने के लिए करीब 3,000 रुपए का प्रावधान किया है। साथ ही इससे भारतीय रेल नेटवर्क के सभी 8,500 स्टेशनों पर सुरक्षा का प्रावधान किया जाएगा। वर्तमान में, रेलवे के 395 स्टेशनों और करीब 50 ट्रेनों में सीसीटीवी प्रणाली लगी है। रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘सभी मेल-एक्सप्रेस और प्रीमियम ट्रेनों में (राजधानी समेत) शताब्दी, दूरंतो और लोकल पैसेंजर सेवाओं में अगले दो सालों में आधुन...
last-satellite-to-be-launched-from-gsat-11-alien-rocket

जीसैट-11 विदेशी रॉकेट से प्रक्षेपित होने वाला अंतिम उपग्रह

2 सप्ताह पहले
भारत उपग्रह प्रक्षेपण कार्य में गति लाने के मकसद से रॉकेट बनाने की दिशा में भी तेजी से आगे बढ़ रहा है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष के. सिवन कहते हैं कि अगर हमारा इरादा कामयाब रहा तो जल्द ही भारत के पास वजनदार उपग्रहों को भी अंतरिक्ष में भेजने के लिए स्वनिर्मित रॉकेट होगा। सिवन के मुताबिक, अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो 8.7 टन वजनी जीसैट-11 शायद विदेशी रॉकेट जरिए अंतरिक्ष में भेजे जाने वाला अंतिम वजनदार उपग्रह होगा। संचार उपग्रह जीसैट-11 को जल्द ही एरियनस्पेस के एरियन रॉकेट के जरिए लॉन्च किया जाएगा। सिवन ने कहा, ‘हम दो संकल्पनाओं पर काम कर रहे हैं। एक ओर सबसे भारी रॉकेट की वहनीय क्षमता बढ़ाने की दिशा ...
the-latest-technology-in-ces-2018

सीईएस 2018 में नवीनतम प्रौद्योगिकी की झलक

4 सप्ताह पहले
यह भविष्य के प्रौद्योगिकी-जगत की झलक थी, जिसमें प्रौद्योगिकी को अंगीकार करने वाले लोगों के जीवन में आने वाले व्यापक बदलाव को दर्शाया गया था। इसमें कई स्थापित मान्यताओं को भी बदलने के वादे किए गए। दुनिया के सबसे बड़े कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स शो (सीईएस)- 2018 का समापन हो गया। लेकिन इसके समापन से पहले शो में आगंतुकों को नए युग की प्रौद्योगिकी से हमारे जीवन के हर पहलू पर पड़ने वाले प्रभावों की जानकारी मिली। सीईएस-2018 की प्रदर्शनी में कृत्रिम बुद्धि (एआई) के गुणात्मक पहलू को प्रदर्शित करते हुए यह दिखाया गया कि इसका इस्तेमाल खेती से लेकर सागरों में राहत व बचाव कार्य में भी किया जा सकता है। इस मौके पर इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) य...
force-the-business-from-the-cloud

क्लाउड से कारोबार को बल

4 सप्ताह पहले
कई भारतीय कंपनियां पिछले कुछ सालों से अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए गूगल क्लाउड का सहारा ले रही हैं। गूगल ने देश में गूगल क्लाउड प्लेटफार्म (जीसीपी) के क्षेत्रीय संस्करण को पेश किया है, ताकि ज्यादा से ज्यादा स्थानीय कंपनियों को इससे जोड़ा जा सके। इस क्लाउड का क्षेत्र मुंबई है, जो गूगल के मूल अवसंरचना, डेटा एनालिटिक्स और मशीन लर्निंग के प्रयोग से कई सेवाएं उपलब्ध कराएगी, जिसमें कंप्यूट, बिग डेटा, स्टोरेज और नेटवर्किंग शामिल हैं। गूगल क्लाउड के कंट्री मैनेजर (इंडिया) मोहित पांडे ने बताया, ‘गूगल क्लाउड रीजन को लांच करने के बाद कई नए सहयोगियों के लिए नए अवसर खुले हैं, जिससे उन्हें गूगल क्लाउड पर अपनी सेवाओं के निर्माण क...
different-power-feeder-lines-for-farmers

किसानों के लिए अलग बिजली फीडर लाइन

5 सप्ताह पहले
केंद्र सरकार ने अपनी यह प्राथमिकता पहले दिन ही तय कर दी थी कि वह किसानों और युवाओं के कल्याण पर खासतौर जोर देगी। इसी प्राथमिकता के तहत केंद्र सरकार कृषि और किसानों की बेहतरी के लिए तमाम कार्यक्रम चला रही है। सरकार ने 2022 तक देशभर के किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए केंद्र सरकार लगातार प्रयास कर रही है। कृषि विकास दर को गति कृषि की विकास दर को रफ्तार देने के लिए पशुधन, डेयरी, पॉल्ट्री और मत्स्य पालन को भी खूब प्रोत्साहन दिया जा रहा है। कृषि क्षेत्र की प्रगति और किसानों को उनकी मे...
social-media-accounts-of-telangana-police-stations

तेलंगाना के पुलिस थानों के होंगे सोशल मीडिया खाते

6 सप्ताह पहले
तेलंगाना में इस वर्ष सभी पुलिस थानों के फेसबुक खाते और ट्विटर हैंडल होंगे, ताकि वे दैनिक आधार पर लोगों के साथ संपर्क में रह सकें। पुलिस महानिदेशक एम. महेंद्र रेड्डी ने कहा कि सुरक्षित तेलंगाना का उद्देश्य पूरा करने के लिए वे प्रौद्योगिकी का उपयोग करेंगे और जन अनुकूल पहलों को मिशन मोड में जमीन पर उतारेंगे। राज्य में करीब 800 पुलिस थाने हैं। डीजीपी ने कहा कि यह प्रौद्योगिकी पिछले कुछ सालों से हैदराबाद में चलाई जा रही है, जिसे अब सभी जिलों और पुलिस बल की सभी इकाइयों तक विस्तारित किया जाएगा। सभी पुलिस थानों में रिसेप्शन डेस्क, शिकायत निवारण और याचिका प्रबंधन प्रणाली भी शामिल होगी। लोगों की प्रतिक्रिया तीसरे पक्ष कॉल सेंटर के ...
every-village-happened

हर गांव हुआ रौशन

6 सप्ताह पहले
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मुताबिक राज्य के सभी 39,073 गांवों में बिजली पहुंच चुकी है। राज्य के प्रत्येक घर को 2018 के अंत तक मुफ्त बिजली कनेक्शन दे दिया जाएगा। बिहार देश के उन राज्यों में शामिल था, जहां बिजली-पानी को लेकर सबसे ज्यादा समस्याएं रही है और ऐसा लंबे समय से रहा है। पर बीते कुछ सालों में इस पिछड़े सूबे की स्थिति सुधर रही है। यह राज्य जहां जीडीपी के आंकड़ो में लगातार अपनी स्थिति बेहतर बनाए हुए है, वहीं वहां सड़क और बिजली जैसी सुविधाएं सुदूर इलाकों तक पहुंच रही है। बिहार में बिजली आपूर्ति को लेकर जो योजना चल रही है उसके मुताबिक इस साल अप्रैल तक हर टोले और बसावटों तक बिजली पहुंचा दी जाएगी और दिसंबर 2018 तक हर घर में बिजली कनेक्शन दे ...
app-who-came-this-year

एेप्प जो इस वर्ष छा गए

8 सप्ताह पहले
स्मार्टफोन के बढ़े जोर ने फन और यूटिलिटी ऐप्प की दुनिया में हलचल मची है। गूगल ने 2017 की बेस्ट ऐप्प की सूची जारी की है। ये ऐप्प खासतौर पर भारत में काफी पसंद किए गए और इन्हें यहां सबसे ज्यादा लोगों ने डाउनलोड भी किया। इनमें गेमिंग, चैटिंग से लेकर सेल्फी ऐप्प तक शामिल हैं। ये ऐप्प गूगल प्ले स्टोर के पॉपुलर ऐप्प हैं, जिन्हें सबसे ज्यादा डाउनलोड किया गया है। ये सभी फ्री एंड्रॉइड ऐप्प हैं। दरअसल, गूगल हर साल दिसंबर में एक सूची जारी करता है, जिसमें मोस्ट सर्च फोन से लेकर मोस्ट सर्च फिल्में और किताबें सब शामिल रहते हैं। इस सूची को गूगल ट्रेंड्स कहा जाता है। इसी ट्रेंड्स में गूगल ने प्ले स्टोर की मोस्ट पॉपुलर और बेस्ट ऐप्प की लिस्ट जारी की है। दिलचस्प है कि इनमें दो सेल्फी कैमरा ऐप्प हैं। साफ ...
science-of-success

कामयाबी का विज्ञान

8 सप्ताह पहले
देश में डिजिटल इंडिया, कैशलेस इंडिया और मेक इन इंडिया का असर दिखने लगा है। खासतौर पर मेक इन इंडिया को बढ़ावा मिलने के साथ ही भारत में स्मार्टफोन मार्केट तेजी से बढ़ा है। अमेरि‍का को पीछे छोड़ते हुए भारत अब दुनि‍या में दूसरा सबसे बड़ा स्मार्टफोन मार्केट बन गया है। नंबर वन पर चीन का दबदबा कायम है। 2017 के दूसरी तिमाही में थोड़ा लड़खड़ाने के बाद भारतीय स्मार्टफोन बाजार में तेजी लौटी और तीसरी तिमाही में शि‍पमेंट में 23 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। कैनालि‍स एनालि‍स्ट की रि‍पोर्ट के अनुसार, इस दौरान 4 करोड़ हैंडसेट का कारोबार हुआ। भारत में इस समय करीब 100 मोबाइल ब्रांड बि‍जनेस कर रहे हैं। भारत में इ...
monitoring-of-social-media-in-odisha

ओडिशा में सोशल मीडिया की निगरानी

9 सप्ताह पहले
ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने सोशल मीडिया शिकायत निगरानी तंत्र की शुरुआत की। सोशल मीडिया पर नवीन पटनायक के फॉलोअर लगातार बढ़ रहे हैं। राज्य सरकार को उम्मीद है कि यह सरकार व जनता के बीच संबंधों को मजबूत करेगी। ओडिशा सरकार ने कहा कि वह सरकार व लोगों के बीच मजबूत संबध बनाएगी। इस तंत्र में एक वेब पोर्टल व एक मोबाइल एप्प शामिल होगा। लोगों की शिकायतों का सक्षमता के साथ प्रबंधन करने के लिए सरकार का यह आंतरिक तंत्र है। शिकायत निवारण तंत्र की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वह निजी तौर पर सोशल मीडिया पर लोगों की शिकायतों को देख रहे अधिकारियों के प्रदर्शन की निगरानी करेंगे। पटनायक ने कहा कि अधिकारियों से उम्मीद है कि वे...
most-visited-websites-are-unsafe

सर्वाधिक देखी जाने वाली वेबसाइटें असुरक्षित

9 सप्ताह पहले
आपकी पसंदीदा इंटरनेट वेबसाइट पर आपका विवरण कितना असुरक्षित है, यह बताते हुए एक शोध में कहा गया है कि इंटरनेट पर सबसे ज्यादा देखी जाने वाली शीर्ष 1000 वेबसाइटों में से हर वर्ष 10 के हैक होने की संभावना है। अमेरिका में कैलिफोर्निया के सैन डिएगो विश्वविद्यालय के प्रोफेसर और इस शोध के वरिष्ठ लेखक एलेक्स सी स्नोरेन ने कहा, ‘कोई भी इससे उपर नहीं है। न कंपनियां, न देश, यह होने जा रहा है। बस प्रश्न यह है कि कब होगा।’ स्नोरेन के पीएचडी छात्रों में से एक और शोध के पहले लेखक जो डीबलासियो ने कहा कि एक प्रतिशत शायद ज्यादा न लगे, लेकिन दुनिया में इंटरनेट पर लाखों बेवसाइट हैं, जिसका मतलब है कि हर वर्ष लाखों वेबसाइट हैक हो सकती है। डीबलासियो ने कहा, ‘बड़ी दुकानों का एक प्रतिशत...


Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो